हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


आरज़ू शायरी हिंदी में – आज ..खुद को तुझमे डुबोने


आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।
क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।
किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र
तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।




Related Posts

आरज़ू शायरी हिंदी में – न किसी के दिल की

न किसी के दिल की हूँ आरज़ू न किसी नज़र की हूँ जुस्तजू मैं वो फूल हूँ जो उदास हो न बहार आए तो क्या करूँ

आरज़ू शायरी हिंदी में – थाम लेना हाथ मेरा कभी

थाम लेना हाथ मेरा कभी पीछे जो छूट जाऊँ मना लेना मुझे जो कभी तुमसे रूठ जाऊँ मैं पागल ही सही मगर मैं वो हूँ जो तेरी हर आरजू के लिये टूट जाऊँ ll

आरज़ू शायरी हिंदी में – सितारों की महफ़िल ने करके

सितारों की महफ़िल ने करके इशारा, कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा, मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो, करे कोई दिल आरजू और क्या…!

आरज़ू शायरी हिंदी में – ये हवा ये रात ये

ये हवा, ये रात ये चाँदनी तेरी एक अदा पे निसार हैं मुझे क्यों ना हो तेरी आरजू तेरी जुस्तजू में बहार है

आरज़ू शायरी हिंदी में – ज़िन्दगी की आखरी आरजू बस

ज़िन्दगी की आखरी आरजू बस यही हैं। तू सलामत रहें दुआँ बस यही हैं।

आरज़ू शायरी हिंदी में – साक़ी मुझे भी चाहिए ….

साक़ी मुझे भी चाहिए …. इक जाम-ए-आरज़ू …. कितने लगेंगे दाम …. ज़रा आँख तो मिला…!!

आरज़ू शायरी हिंदी में – ना खुशी की तलाश है

ना खुशी की तलाश है ना गम-ए-निजात की आरज़ू.. मै ख़ुद से ही नाराज हूँ तेरी नाराजगी के बाद..

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – एक शाम आती है तुम्हारी

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है जो आए तुम्हे साथ लेकर..!!

वफ़ा शायरी हिंदी में – परवाह करने वाले रूला जाते

परवाह करने वाले रूला जाते है, अपना समझने वाले पराया बना जाते है, चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे, न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं….!

इबादत शायरी हिंदी में – तेरे पास में बैठना भी

तेरे पास में बैठना भी इबादत तुझे दूर से देखना भी इबादत…. न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत….


1 Comment

Add a Comment
  1. Unke mijaaz badal gye , humari ulfat na badli ..
    Dil zaroor toota magar chahat na chhooti..
    Niklte rhe aansoo betahasha teri aarzoo mei..
    Aakhri saans bhi apni tere naam pe tooti…

Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016