हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


क़यामत शायरी हिंदी में – क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने


क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब;
ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, ‘मोहब्बत’ की है इसने।




Related Posts

क़यामत शायरी हिंदी में – क़यामत तक उड़ेगी दिल से

क़यामत तक उड़ेगी दिल से उठकर ख़ाक आँखों तक, इसी रास्ते गया है हसरतों का काफ़िला होकर

क़यामत शायरी हिंदी में – खुदा के नेक बन्दे हो

खुदा के नेक बन्दे हो तो बदी से भी डरा करो । क्योंकि दिन होगा क़यामत का, बस तुम होगे और खुदा होगा।

क़यामत शायरी हिंदी में – सँभलने दे मुझे ऐ ना-उम्मीदी

सँभलने दे मुझे ऐ ना-उम्मीदी क्या क़यामत है कि दामान-ए-ख़याल-ए-यार छूटा जाए है मुझ से!

क़यामत शायरी हिंदी में – अंदाज़-ए-सितम उनका निहायत ही अलग

अंदाज़-ए-सितम उनका निहायत ही अलग है गुज़री है जो दिल पर वो क़यामत ही अलग है

क़यामत शायरी हिंदी में – तेरा पहलू तेरे दिल की

तेरा पहलू तेरे दिल की तरह आबाद रहे तुझ पे गुज़रे न क़यामत शब-ए-तन्हाई की।

क़यामत शायरी हिंदी में – दिल में समां गयीं हैं

दिल में समां गयीं हैं क़यामत की शोख़ियाँ दो-चार दिन मैं भी रहा था मैं किसी की निगाह में

क़यामत शायरी हिंदी में – अगर देखनी है क़यामत तो

अगर देखनी है क़यामत तो चले आओ हमारी महफ़िल में,., सुना है आज महफ़िल में वो बेनक़ाब आ रहे हैं

क़यामत शायरी हिंदी में – मोहब्बत ये नहीं कि तुम

मोहब्बत ये नहीं कि तुम तड़पो और उसे खबर भी न हो मोहब्बत ये है की तुम्हारा दिल तड़पे तो उसके दिल पे क़यामत गुज़रे…

क़यामत शायरी हिंदी में – क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने

क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब; ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, ‘मोहब्बत’ की है इसने।

क़यामत शायरी हिंदी में – ये सुबह का मंज़र भी

ये सुबह का मंज़र भी क़यामत का हसीन है… तकिया है कहीं, ज़ुल्फ़ कहीं, खुद वो कहीं हैं……


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016