हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


जुदाई शायरी हिंदी में – एक लफ्ज़ है


एक लफ्ज़ है जुदाई
इसे सह कर तो देखो !
तुम टूट के बिखर ना जाओ तो कहना !!

एक लफ्ज़ है खुदा
उसे पुकार कर तो देखो !
सब कुछ पा ना लो तो कहना !!!




Related Posts

जुदाई शायरी हिंदी में – कोई वादा नहीं फिर भी

कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है, जुदाई के बावजूद, भी तुझपे अधिकार है. तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही, मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है.

जुदाई शायरी हिंदी में – वादा किया है तो निभाएगे

वादा किया है तो निभाएगे, सूरज की किरण बनकर तेरी छत पर आएगे. हम है तो जुदाई का गम कैसा, तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएगे.

जुदाई शायरी हिंदी में – दिल को आता है जब

दिल को आता है जब भी ख़याल उनका, तस्वीर से पूछते हैं फिर हाल उनका. वो कभी हमसे पुछा करते थे जुदाई क्या है, आज समझ आया है सवाल उनका…

जुदाई शायरी हिंदी में – किसने माँगी थी इन आँखों

किसने माँगी थी इन आँखों से रिहाई जाने किस ज़ुर्म की सज़ा है ये जुदाई …

जुदाई शायरी हिंदी में – मोहब्बत और भी बढ़ जाती है

मोहब्बत और भी बढ़ जाती है जुदाईयोँ से… तुम सिर्फ मेरे हो हमदम इस बात का ख्याल रखना.!!

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – एक शाम आती है तुम्हारी

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है जो आए तुम्हे साथ लेकर..!!

वफ़ा शायरी हिंदी में – परवाह करने वाले रूला जाते

परवाह करने वाले रूला जाते है, अपना समझने वाले पराया बना जाते है, चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे, न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं….!

इबादत शायरी हिंदी में – तेरे पास में बैठना भी

तेरे पास में बैठना भी इबादत तुझे दूर से देखना भी इबादत…. न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत….

चैन शायरी हिंदी में – आँखों मे ख्वाब उतरने नही

आँखों मे ख्वाब उतरने नही देता वो शख्स मुझे चैन से मरने नही देता बिछड़े तो अजब प्यार जताता है खतों मे मिल जाए तो फिर हद से गुजरने नही देता.

आरज़ू शायरी हिंदी में – आज ..खुद को तुझमे डुबोने

आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है। क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है। किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016