हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


नाराज़ शायरी हिंदी में – तुझ से नहीं तेरे वक़्त


तुझ से नहीं तेरे वक़्त से नाराज हूँ…
जो कभी तुझे मेरे लिए नहीं मिला…




Related Posts

नाराज़ शायरी हिंदी में – सारा जहाँ चुपचाप है..

सारा जहाँ चुपचाप है.. आहटें ना साज़ है…….. क्यों हवा ठहरी हुई है…….. आप क्या नाराज़ है…….!!!

नाराज़ शायरी हिंदी में – यहाँ सब खामोश है कोई

यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता…. सच बोलकर कोई किसी को नाराज़ नहीं करता….

नाराज़ शायरी हिंदी में – कहीं नाराज न हो जाए

कहीं नाराज न हो जाए उपरवाला मुझ से, हर सुबह उठते ही, उससे पहले तुझे जो याद करता हूँ.

नाराज़ शायरी हिंदी में – मुझे तो तुमसे नाराज होना भी

मुझे तो तुमसे नाराज होना भी नहीँ आता… न जाने तुम से कितनी मोहब्बत कर बैठा हूँ मै.!!

नाराज़ शायरी हिंदी में – किसी से नाराजगी इतने वक़्त

किसी से नाराजगी, इतने वक़्त तक न रखो के.. वो तुम्हारे बगैर ही, जीना सीख जाए…!

नाराज़ शायरी हिंदी में – ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़

ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़, मुझको आदत है मुस्कुराने की..

नाराज़ शायरी हिंदी में – जीना तो हमे भी बिंदास

जीना तो हमे भी बिंदास आता है.. लेकिन ज़िंदगी आजकल कुछ नाराज़ है हमसे…

नाराज़ शायरी हिंदी में – “रिश्ता” दिल से होना चाहिए

“रिश्ता” दिल से होना चाहिए, शब्दों से नहीं, “नाराजगी” शब्दों में होनी चाहिए दिल में नहीं!

नाराज़ शायरी हिंदी में – नाराज़गी भी मोहब्बत की बुनियाद

नाराज़गी भी मोहब्बत की बुनियाद होती हे, मुलाक़ात से भी प्यारी किसी की याद होती हे…

Heart Broken Shayari Hindi Mein – कट रही है ज़िंदगी आराम से

उन का ग़म उन का तसव्वुर उन की याद कट रही है ज़िंदगी आराम से


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016