हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


परवाह शायरी हिंदी में – बेपरवाह थी…अब परवाह करने लगी..


बेपरवाह थी…अब परवाह करने लगी..
तेरे इश्क़ का असर कुछ युँ हुआ..
की में खुदसे भी अब इश्क़ करने लगी..




Related Posts

परवाह शायरी हिंदी में – उन लोगों को कभी नजरअंदाज

उन लोगों को कभी नजरअंदाज मत करो जो तुम्हारी परवाह करते हैं, और उन लोगों की कभी परवाह मत करो जो तुम्हे नजरअंदाज करते हैं।

परवाह शायरी हिंदी में – किसी को जान से ज्यादा

किसी को जान से ज्यादा चाहने की गलती कभी मत करना क्या पता तुम्हारी इतनी परवाह उसे लापरवाह बनादे।

परवाह शायरी हिंदी में – दौलत नहीँ…शोहरत नहीँ..ना ही वाह

दौलत नहीँ…शोहरत नहीँ..ना ही वाह चाहिए “कैसे हो”..दोस्तों बस दो लफ्जों की परवाह चाहिए ।

परवाह शायरी हिंदी में – बेफिक्र थे हम जब अपने

बेफिक्र थे हम जब अपने आप में मस्त थे, परवाह करने लगे है जब से, तन्हा हो गए है..

परवाह शायरी हिंदी में – खुद को इतना अकेला कर

खुद को इतना अकेला कर दिया है अब तो साया बी साथ न चले तो परवाह नहीं

Heart Broken Shayari Hindi Mein – कट रही है ज़िंदगी आराम से

उन का ग़म उन का तसव्वुर उन की याद कट रही है ज़िंदगी आराम से

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – तुम्हारा ज़िक्र तुम्हारी तमन्ना तुम्हारी याद

तुम्हारा ज़िक्र, तुम्हारी तमन्ना, तुम्हारी याद, वक़्त कितना क़ीमती है इन दिनों…

Hindi Sad Shayari – मिलने की तरह मुझ से वो पल भर नहीं मिलता

मिलने की तरह मुझ से वो पल भर नहीं मिलता दिल उस से मिला जिस से मुक़द्दर नहीं मिलता

महफ़िल शायरी हिंदी में – बुला कर तुम ने महफ़िल

बुला कर तुम ने महफ़िल में हमें ग़ैरों से उठवाया हमीं ख़ुद उठ गए होते इशारा कर दिया होता…

खुश्बू शायरी हिंदी में – हमारे सीने में भी

हमारे सीने में भी खुशबू ने सिर रखा था हमारे हाथो में भी कभी फुलो की डाली थी


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016