हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


फन्नी शायरी हिंदी में – मिर्ज़ा ग़ालिब: हमें तो अपनों ने


मिर्ज़ा ग़ालिब:
हमें तो अपनों ने लूटा
गैरो में कहाँ दम था
अपनी कश्ती वहां डूबी
जहां पानी कम था

ग़ालिब की पत्नी:
तुम तो थे ही गधे
तुम्हारे भेजे में कहाँ दम था
वहां कश्ती लेकर गए ही क्यों
जहाँ पानी कम था!!




Related Posts

फन्नी शायरी हिंदी में – आप करें न करें याद

आप करें न करें याद हम को हम आप को याद करेंगे मोबाइल के साथ दफनाना नेटवर्क मिलेगा तो कब्र से भी SMS बिंदास करेंगे

फन्नी शायरी हिंदी में – मेरे एक “Facebook Friend” ने

मेरे एक “Facebook Friend” ने post किया कि- “काश कि तुम मौत होती, एक दिन ही सही मेरी तो होती ” तो मैंने भी Comment कर दिया कि भाई – “अगर वो मौत होती तो एक दिन सबकी होती” भाई ने तुरन्त ही Unfriend कर दिया… बताइये अब तो Logic भी देना गलत हो गया […]

फन्नी शायरी हिंदी में – एक आदमी कुम्भ मेले में

एक आदमी कुम्भ मेले में प्रार्थना कर रहा था हे प्रभु, न्याय करो… हे प्रभु, न्याय करो… हमेशा भाई-भाई को बिछड़ते देखा है कुम्भ में … कभी पति-पत्नी पर भी try करो !!

फन्नी शायरी हिंदी में – जिस ने ज़ल्द बाज़ी में

जिस ने ज़ल्द बाज़ी में शादी की उसने अपना जीवन बिगाड़ लिया।। वाह! वाह! वाह! वाह! और जिसने सोच समझ कर की उसने कौन सा तीर मार लिया।।

फन्नी शायरी हिंदी में – जली को आग कहते हैं…! बुझी

जली को आग कहते हैं…! बुझी को राख कहते हैं…! जिसका Missed call देखते ही इंसान घर आ जाये…! उसे “बीवी की धाक” कहते हैं…!

फन्नी शायरी हिंदी में – अर्ज़ किया है… बेइज़्ज़ती और बीवी

अर्ज़ किया है… बेइज़्ज़ती और बीवी अजीब चीज़ होती हैं… गौर फरमाइयेगा… बेइज़्ज़ती और बीवी अजीब चीज़ होती हैं… अच्छी तभी लगती हैं जब दूसरे की होती है!!

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – एक शाम आती है तुम्हारी

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है जो आए तुम्हे साथ लेकर..!!

वफ़ा शायरी हिंदी में – परवाह करने वाले रूला जाते

परवाह करने वाले रूला जाते है, अपना समझने वाले पराया बना जाते है, चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे, न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं….!

इबादत शायरी हिंदी में – तेरे पास में बैठना भी

तेरे पास में बैठना भी इबादत तुझे दूर से देखना भी इबादत…. न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत….

चैन शायरी हिंदी में – आँखों मे ख्वाब उतरने नही

आँखों मे ख्वाब उतरने नही देता वो शख्स मुझे चैन से मरने नही देता बिछड़े तो अजब प्यार जताता है खतों मे मिल जाए तो फिर हद से गुजरने नही देता.


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016