हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल

फन्नी शायरी हिंदी में – मिर्ज़ा ग़ालिब: हमें तो अपनों ने


मिर्ज़ा ग़ालिब:
हमें तो अपनों ने लूटा
गैरो में कहाँ दम था
अपनी कश्ती वहां डूबी
जहां पानी कम था

ग़ालिब की पत्नी:
तुम तो थे ही गधे
तुम्हारे भेजे में कहाँ दम था
वहां कश्ती लेकर गए ही क्यों
जहाँ पानी कम था!!





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *




PalPalDilKePass © 2016