हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


भूलना शायरी हिंदी में – जिन शामों में तुझे भूलना


जिन शामों में तुझे भूलना चाहें
वही रातें अज़ाब होती हैं
अपनी यादों के सिलसिले रोको
मेरी नींदे खराब होती हैं




Related Posts

भूलना शायरी हिंदी में – जिंदगी के भीड़ में बहुत

जिंदगी के भीड़ में बहुत से यार मिलेंगे हम क्या हमसे अच्छे हज़ार मिलेंगे इन हजारों के भीड़ में हमें भूलना जाना हम भी तुम्हें कहां बारबार मिलेंगे

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – एक शाम आती है तुम्हारी

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है जो आए तुम्हे साथ लेकर..!!

वफ़ा शायरी हिंदी में – परवाह करने वाले रूला जाते

परवाह करने वाले रूला जाते है, अपना समझने वाले पराया बना जाते है, चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे, न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं….!

इबादत शायरी हिंदी में – तेरे पास में बैठना भी

तेरे पास में बैठना भी इबादत तुझे दूर से देखना भी इबादत…. न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत….

चैन शायरी हिंदी में – आँखों मे ख्वाब उतरने नही

आँखों मे ख्वाब उतरने नही देता वो शख्स मुझे चैन से मरने नही देता बिछड़े तो अजब प्यार जताता है खतों मे मिल जाए तो फिर हद से गुजरने नही देता.

आरज़ू शायरी हिंदी में – आज ..खुद को तुझमे डुबोने

आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है। क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है। किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

तमन्ना शायरी हिंदी में – पलकों में कैद रहने दो

पलकों में कैद रहने दो सपनो को, उन्हें तो हकीक़त में बदलना है, इन आँखों की तो एक ही तमन्ना है, की हर वक़्त आपको मुस्कुराते देखना है.

वफ़ा शायरी हिंदी में – तेरे होते हुए भी तन्हाई

तेरे होते हुए भी तन्हाई मिली है, वफ़ा करके भी देखो बुराई मिली है, जितनी दुआ की तुम्हे पाने की, उस से ज़यादा तेरी जुदाई मिली है…

जुदाई शायरी हिंदी में – कोई वादा नहीं फिर भी

कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है, जुदाई के बावजूद, भी तुझपे अधिकार है. तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही, मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है.

करीब शायरी हिंदी में – तुम आये तो लगा हर

तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई, यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई… था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार अचानक वो मेरे करीब आ गई …


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016