हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


2 Lines Missing You Shayari – ऐ जिंदगी तू सच में बहुत


ऐ जिंदगी तू सच में बहुत ख़ूबसूरत है,
फिर भी तू, उसके बिना अच्छी नहीँ लगती…

 

Dard Bhari Hindi Shayari 2 Line Mein : 2 Lines Sad Shayari

Romantic Hindi Sher O Shayari 2 Line Mein: 2 Lines Romantic Shayari

Mohabbat Shayari Hindi 2 Line Mein: 2 Lines Mohabbat Shayari

Inspirational Hindi Shayari 2 Line Mein: 2 Lines Inspirational Shayari

Miss You Hindi Shayari 2 Line Mein: 2 Lines Missing You Shayari




Related Posts

Missing You Hindi Shayari 2 Lines – आज तुम हर साँस के साथ

आज तुम हर साँस के साथ याद आ रहे हो…. अब तुम्हारी याद रोक दु या अपनी सांस…||.

Missing You Hindi Shayari 2 Lines – काश आंसुओ के साथ यादे भी

काश आंसुओ के साथ यादे भी बह जाती … तो एक दिन तस्सली से बैठ के रो लेते…

Missing You Hindi Shayari 2 Lines – मालूम है ये सावन अगले वर्ष

मालूम है ये सावन अगले वर्ष भी आएगा,, पर तुम अभी आ जाओगे तो क्या बिगड़ जायेगा..

Missing You Hindi Shayari 2 Lines – कोई मज़बूत सी ज़ंजीर भेजो, तुम्हारी याद

कोई मज़बूत सी ज़ंजीर भेजो, तुम्हारी याद पागल हो गई है…

Missing You Hindi Shayari 2 Lines – ये चाँद चमकना छोड़ भी दे,

ये चाँद चमकना छोड़ भी दे, तेरी चांदनी मुझे सताती है, तेरे जैसा ही था उसका चेहरा, तुझे देख के वो याद आती है.

2 Lines Missing You Shayari – दिल लगता नहीं है अब तुम्हारे

दिल लगता नहीं है अब तुम्हारे बिना, खामोश से रहने लगे है तुम्हारे बिना, जल्दी लौट के आओ अब यही चाह है, वरना जी ना पाएँगे तुम्हारे बिना |

2 Lines Missing You Shayari – यह दुनिया भर के झगड़े घर

यह दुनिया भर के झगड़े, घर के किस्से, काम की बातै ,,,, बला हर एक टल जाऐ अगर तुम मिलने आ जाऔ।

2 Lines Missing You Shayari – तुम्हारा ख्याल भी तुम्हारी तरह मेरी

तुम्हारा ख्याल भी तुम्हारी तरह मेरी नही सुनता….!! जब आता है तो बस आता ही चला जाता है….!!

2 Lines Missing You Shayari – तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन

तुम्हारे बगैर ये वक़्त, ये दिन और ये रात….!! जान मेरी….!! गुजर तो जाते हैं मगर, गुजारे नहीं जाते….!!!

2 Lines Missing You Shayari – एक तू मिल जाती इतना काफ़ी

एक तू मिल जाती, इतना काफ़ी था, सारी दुनियाँ के तलबगार नहीं थे हम..!!


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016