हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल

Category: नाराज़ शायरी

नाराज़ शायरी हिंदी में – सारा जहाँ चुपचाप है..


सारा जहाँ चुपचाप है..
आहटें ना साज़ है……..
क्यों हवा ठहरी हुई है……..
आप क्या नाराज़ है…….!!!

नाराज़ शायरी हिंदी में – कहीं नाराज न हो जाए

कहीं नाराज न हो जाए उपरवाला मुझ से,
हर सुबह उठते ही,
उससे पहले तुझे जो याद करता हूँ.


नाराज़ शायरी हिंदी में – ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़


ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़,
मुझको आदत है मुस्कुराने की..

PalPalDilKePass © 2016