हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल

Category: परवाह शायरी

परवाह शायरी हिंदी में – उन लोगों को कभी नजरअंदाज


उन लोगों को कभी नजरअंदाज मत करो जो तुम्हारी परवाह करते हैं,
और उन लोगों की कभी परवाह मत करो जो तुम्हे नजरअंदाज करते हैं।

परवाह शायरी हिंदी में – रस्मों रिवाज की जो परवाह

रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं,
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं।


परवाह शायरी हिंदी में – बेपरवाह थी…अब परवाह करने लगी..

बेपरवाह थी…अब परवाह करने लगी..
तेरे इश्क़ का असर कुछ युँ हुआ..
की में खुदसे भी अब इश्क़ करने लगी..

परवाह शायरी हिंदी में – बेफिक्र थे हम जब अपने


बेफिक्र थे हम जब अपने आप में मस्त थे,
परवाह करने लगे है जब से, तन्हा हो गए है..

परवाह शायरी हिंदी में – चाहत के ये कैसे अफ़साने

चाहत के ये कैसे अफ़साने हुए;
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए;
अब दुनिया की नहीं कोई परवाह हमें;
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।

परवाह शायरी हिंदी में – होगा अफसोस जब हम ना

होगा अफसोस जब हम ना होगे,
तेरी आँखों से आँसू क़म ना होगे,
बहुत मिलेंगे तेरे अरमानो से खेलने वाले,
लेकिन उस वक़्त तेरी परवाह करने वाले हम ना होगे।।

परवाह शायरी हिंदी में – अंधेरी दुनिया की परवाह किसे

अंधेरी दुनिया की परवाह किसे है
मेरे तो सपनों में तुम ही तुम हो

किसी से क्या कहूँ मैं अपने बारे में
मेरी तो हर बातों में तुम ही तुम हो

PalPalDilKePass © 2016