हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


Category: महबूब शायरी

महबूब शायरी हिंदी में – ऐ मौसम ज़रा रेहम कर


ऐ मौसम ज़रा रेहम कर दिलों पर,,
जरुरी नही हर मेहबूब अपने प्यार के साथ हो,,

महबूब शायरी हिंदी में – बारिश के बाद इन हवाओं

बारिश के बाद इन हवाओं का,
यूँ मचल के चलना ….उफ्फ्फ
अपने मेहबूब से मिलकर कोई,
मेहबूबा इतराई हो जैसे ।।।

महबूब शायरी हिंदी में – दर्द का क्या है दर्द

दर्द का क्या है, दर्द भी तो मेहबूब की तरह बेवफा ही है
मिली कोई ख़ुशी ख़ूबसूरत सी, दर्द खुदसे बेवफाई कर लेता है..

महबूब शायरी हिंदी में – गजब की चीज है मेरे


गजब की चीज है मेरे मेहबूब की मुस्कुराहट भी
कमबक्त कातिल भी है और गम की दवा भी !!

PalPalDilKePass © 2016