हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल

Category: Hindi Sher O Shayari 4 Lines

Very Heart Touching Hindi Sad Shayari In Four Lines – Dard Bhari Shayari 4 Lines


जिंदगी है नादान इसीलिए चुप हूँ,
दर्द ही दर्द है सुबह शाम इसलिए चुप हूँ,
कह दूँ जमाने से दास्तान अपनी,
उसमें आएगा तेरा नाम इसलिये चुप हूँ

Hindi Shayari 4 Line Mein – डर मुझे भी लगा फासला देखकर, पर

डर मुझे भी लगा फासला देखकर,
पर मैं बढता गया रास्ता देखकर,
खुद बा खुद मेरे नजदीक आती गयी ,
मेरी मंजिल, मेरा होसला देखकर।।

Hindi Shayari 4 Line Mein – अपने गमो की तू नुमाइश न

अपने गमो की तू नुमाइश न कर,
यूँ क़ुदरत से लड़ने की कोशिश न कर,

जो हे कुदरत ने लिखा वो होकर रहेगा,
तू उसे बदलने की आजमाइश न कर ।।


Hindi Shayari 4 Line Mein – चेहरे की हंसी से ग़म को

चेहरे की हंसी से ग़म को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो.

खुद ना रुठों पर सब को हँसा दो,
यही राज है ज़िंदगी का, कि जियो और जीना सिखा दो…..

Hindi Shayari 4 Line Mein – काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं, विश्वास

काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं,
विश्वास पर चलकर …भगवान .. मिलते हैं,
एक बात याद रखना दोस्त!!
सुख में सब मिलते है,
लेकिन दुख में सिर्फ ..भगवान .मिलते है…

Hindi Shayari 4 Line Mein – आसमां में मत ढूँढ अपने सपनों


आसमां में मत ढूँढ अपने सपनों को
सपनों के लिए तो ज़मीं जरूरी है

सब कुछ मिल जाये तो जीने का क्या मजा
जीने के लिए कुछ कमी भी तो जरूरी है..

Hindi Shayari 4 Line Mein – किसी गरीब को मत सता, गरीब बेचारा

किसी गरीब को मत सता,
गरीब बेचारा क्या कर सकेगा,
वोह तोह बस रो देगा,
पर उसका रोना सुन लिया ऊपर वाले ने,
तोह तू अपनी हस्ती खो देगा.

Hindi Shayari 4 Line Mein – सच्चाई के आईने काले हो गये, बुजदिलों

सच्चाई के आईने काले हो गये,
बुजदिलों के घर मेँ उजाले हो गए।

झूठ बाजार मेँ बेखौफ बिकता रहा,
मैंने सच कहा तो जान के लाले हो गए!

Hindi Shayari 4 Line Mein – जो उड़ते हैं अहम के आसमानों

जो उड़ते हैं अहम के आसमानों में
जमीं पर आने में वक़्त नहीं लगता,
हर तरह का वक़्त आता है ज़िंदगी में
वक़्त के गुज़रने में वक़्त नहीं लगता..

Hindi Shayari 4 Line Mein – मोहब्बत न होतीं गजल कौन कहता,

मोहब्बत न होतीं गजल कौन कहता,
किचड के फुल को कमल कौन कहता,
प्यार तो कुदरत का करिश्मा है वरना,
एक लाश के घर को ताजमहल कौन कहता!!

Page 1 of 712345...Last »
PalPalDilKePass © 2016