हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


Hindi Shayari – खामोशिया…. बोल देती है


खामोशिया…. बोल देती है…
जिनकी… बातें नहीं होती…
इश्क़ वो भी करते है…….
जिनकी…. मुलाकाते नहीं होती ….!!




Related Posts

Hindi Shayari – वो जिन्हे हमने सौंपी हैं

वो जिन्हे हमने सौंपी हैं दिल की सभी धड़कनें…… वो अपना एक पल देने मे हज़ार बार सोचते है…….

Hindi Romantic Shayari – उम्र मत पूछो उनकी

उम्र मत पूछो उनकी…. जो इश्क मै ड़ूबे रहते है…. वो हर वक्त जवां रहते है…. *जो महबूब की आंखो में खोए रहते है.

Hindi Shayari 4 Line Mein – ख्वाबो में मेरे आप रोज आते

ख्वाबो में मेरे आप रोज आते हो, कभी दर्द, कभी खुशियाँ दे जाते हो, कितना प्यार करते हो आप मुझ से, सिर्फ मेरे इस सवाल का जबाब टाल जाते हो.

Hindi Shayari 4 Line Mein – तू चाँद और मैं सितारा होता, आसमान

तू चाँद और मैं सितारा होता, आसमान में एक आशियाना हमारा होता, लोग तुम्हे दूर से देखते, नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता.

Hindi Shayari 4 Line Mein – हमारी गलतियों से कही टूट न

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना, हमारी शरारत से कही रूठ न जाना तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना

Hindi Shayari 4 Line Mein – लिख दूं….तो लफ्ज़ तुम हो सोच लूं….तो

लिख दूं….तो लफ्ज़ तुम हो सोच लूं….तो ख़याल तुम हो मांग लूं….तो मन्नत तुम हो चाह लूं….तो मुहब्बत भी….तुम ही हो..

Hindi Shayari 4 Line Mein – नज़र को नज़र की खबर ना

नज़र को नज़र की खबर ना लगे, कोई अच्छा भी इस कदर ना लगे, आपको देखा है बस उस नज़र से, जिस नज़र से आपको नज़र ना लगे…!

Hindi Shayari 4 Line Mein – तुझे छोङ दूं तुझे भूल जाँऊ, कैसी

तुझे छोङ दूं तुझे भूल जाँऊ, कैसी बातें करते हो,. सुरत तो फिर भी सुरत है,.. मुझे तो तेरे नाम के लोग भी अच्छे लगते है…!!

Hindi Shayari 4 Line Mein – “हम अपने पर गुरुर नहीं करते, याद

“हम अपने पर गुरुर नहीं करते, याद करने के लिए किसी को मजबूर नहीं करते. मगर जब एक बार किसी को दोस्त बना ले, तो उससे अपने दिल से दूर नहीं करते.”

Hindi Shayari 4 Line Mein – उसकी प्यारी मुस्कान होश उड़ा देती

उसकी प्यारी मुस्कान होश उड़ा देती हैं, उसकी आँखें हमें दुनिया भुला देती हैं, आएगी आज भी वो सपने मैं यारो, बस यही उम्मीद हमें रोज़ सुला देती हैं..


Leave a Reply

PalPalDilKePass © 2016