हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल

Ahmad Faraz Hindi Poetry – तेरी तलब में जला डाले


तेरी तलब में जला डाले आशियाने तक
कहाँ रहूँ मैं तेरे दिल में घर बनाने तक

Ahmad Faraz Hindi Poetry – तू किसी और के लिए

तू किसी और के लिए होगा समन्दर ए इश्क़ फ़राज़
हम तो रोज़ तेरे साहिल से प्यासे गुज़र जाते हैं


Ahmad Faraz Hindi Poetry – तुम्हारी दुनिया में हम जैसे हजारों हैं

तुम्हारी दुनिया में हम जैसे हजारों हैं “फ़राज़”
हम ही पागल थे जो तुम्हे पा के इतराने लगे

Ahmad Faraz Hindi Poetry – तुम्हारी एक निगाह से

तुम्हारी एक निगाह से कतल होते हैं लोग फ़राज़
एक नज़र हम को भी देख लो के तुम बिन ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती

Ahmad Faraz Hindi Poetry – तुम मुझे रूह में


तुम मुझे रूह में बसा लो “फराज़”,
दिल-ओ-जान के रिशते तो अकसर टूट जाया करते हैं

Ahmad Faraz Hindi 2 Lines Shayari – तमाम उम्र मुझे टूटना

तमाम उम्र मुझे टूटना बिखरना था “फ़राज़”
वो मेहरबां भी कहाँ तक समेटता मुझे

इश्क की राह में दो हैं मंजिलें “फ़राज़”
या दिल में उतर जाना या दिल से उतर जाना.

Ahmad Faraz Hindi 2 Lines Shayari – तपती रही है

तपती रही है आस की किरणों पे ज़िन्दगी
लम्हे जुदाइयों के मा – ओ साल हो गए

प्यार में एक ही मौसम है बहारों का “फ़राज़”
लोग कैसे मौसमों की तरह बदल जाते है

Page 10 of 225« First...89101112...203040...Last »
PalPalDilKePass © 2016