हिंदी शायरी - Romantic And Sad Hindi Poetry

रोमांटिक और दर्द भरी हिंदी शेर ओ शायरी संग्रह - २ लाइन शायरी, 4 लाइन शायरी और ग़ज़ल


Tag: लेटेस्ट शायरी २०१७

इम्तेहान शायरी हिंदी में – अये वक़्त मेरे सब्र का

अये वक़्त मेरे सब्र का इतना इम्तेहान न ले
याद रख
मैंने जो ठोकर मारी तुझे
तो तू कभी लौट के न आ पायेगा

इंकार शायरी हिंदी में – कभी खुलता ही नहीं


कभी खुलता ही नहीं साफ़ कुछ इक़रार इनकार होते है
उनकी हर बात में पहलू दोनों है

तेरे बिना शायरी हिंदी में – अक्सर ठहर कर देखता हूँ


अक्सर ठहर कर देखता हूँ अपने पैरों के निशान को,
वो भी अधूरे लगते है तेरे साथ के बिना..

PalPalDilKePass © 2016