जुदाई शायरी हिंदी में – कोई वादा नहीं फिर भी

कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है,
जुदाई के बावजूद, भी तुझपे अधिकार है.
तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही,
मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है.

Leave a Reply