बेस्ट सुप्रभात शायरी – उठकर देखिये सुबह का ‘नजारा’ हवा

उठकर देखिये सुबह का ‘नजारा;’
हवा भी है ठंडी और मौसम भी है प्यारा;
सो गया चाँद और छुप गया हर एक सितारा;
“क़बूल हो आपको” सलाम-ए-सुबह हमारा।
सुप्रभात!


Leave a Reply




पढ़िए…कुछ विशेष शायरी कलेक्शन - जिनमें स्पेशल शब्दों को शामिल किया गया है

इन्हे भी पढ़े…..