शिद्दत शायरी हिंदी में – कभी तन्हा हो तो वो

कभी तन्हा हो तो वो लम्हा याद करना,
बस एक बार,हमें शिद्दत से याद करना..
तुम्हें,उस नाकाम मोहब्बत की कसम है,
न इस तरह,फिर किसी को बर्बाद करना.

Leave a Reply