सपने शायरी हिंदी में – गुमसुम यादें सुने सपने टूटती-जुड़ती

गुमसुम यादें, सुने सपने, टूटती-जुड़ती उम्मीदें,
डरता हूँ कैसे कटेगी उम्र है कोई रात तो नहीं…..!!


Leave a Reply




पढ़िए…कुछ विशेष शायरी कलेक्शन - जिनमें स्पेशल शब्दों को शामिल किया गया है

इन्हे भी पढ़े…..