हुस्न शायरी हिंदी में – कई सदियों में आती है

कई सदियों में आती है कोई सूरत हसीन इतनी
हुस्न पर हर रोज कहाँ ऐसे शबाब आते है
रोशनी के वास्ते तो उनका नूर ही काफी है
उनके दीदार को आफताब और महताब आते है


Leave a Reply




पढ़िए…कुछ विशेष शायरी कलेक्शन - जिनमें स्पेशल शब्दों को शामिल किया गया है

इन्हे भी पढ़े…..