Month: March 2017

अजनबी शायरी हिंदी में – न जाने इतनी मोहब्बत कहाँ

न जाने इतनी मोहब्बत कहाँ से आ गयी उस अजनबी के लिए,
की मेरा दिल भी उसकी खातिर अक्सर मुझसे रूठ जाया करता है …..

खुश्बू शायरी हिंदी में – किनारे बैठी हूँ.. तेरी यादों

किनारे बैठी हूँ.. तेरी यादों के सहारे..
हर लहर इक एहसास जगाती है..
मुझे हवा से भी …तेरी ही खुशबू आती है..

दुश्मन शायरी हिंदी में – मेरी दोस्ती का फायदा उठा

मेरी दोस्ती का फायदा उठा लेना, क्युंकी…
मेरी दुश्मनी का नुकसान सह नही पाओगे…!

इबादत शायरी हिंदी में – मेरी इबादतों को ऐसे कर

मेरी इबादतों को ऐसे कर कबूल ऐ मेरे खुदा,
के सजदे में मैं झुकूं तो मुझसे जुड़े हर रिश्ते की जिंदगी संवर जाए..!!

धोखा शायरी हिंदी में – कौन है इस जहाँ मे

कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला,
शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला…