Month: June 2017

खुश्बू शायरी हिंदी में – सदाकत खुद-ब-खुद करती है शोहरत

सदाकत खुद-ब-खुद करती है शोहरत इस जमाने में..
कभी खुशबू भी कहती है,मुझे तुम सूंघ कर देखो……

तलाश शायरी हिंदी में – वजह तो नफरतो कि तलाशी

वजह तो नफरतो कि तलाशी जाती है ।
मोहब्बत तो बेवजह हो जाती है ।

दुश्मन शायरी हिंदी में – तुझसे अच्छे तो मेरे दुश्मन

तुझसे अच्छे तो मेरे दुश्मन निकले….;
जो हर बात पर कहते हैं.. ‘तुम्हें नहीं छोड़ेंगे”