Month: September 2017

सितम शायरी हिंदी में – सितम पर सितम कर रहे

सितम पर सितम कर रहे हैं वह मुझ पर,
मुझे शायद अपना समझने लगे हैं

सपने शायरी हिंदी में – सुबह सुबह उठते ही ..सदमा

सुबह सुबह उठते ही ..सदमा सा लगा,
सपने में मोहब्बत कर बैठे थे तुम से…

ज़िद्द शायरी हिंदी में – मैंने तो बस उसको पाने

मैंने तो बस उसको पाने की ज़िद्द की थी…
मेरा खुदको खोने का कोई इरादा नहीं था…