4 Lines Sad Shayari – सदियों से जागी आँखों को एक

सदियों से जागी आँखों को एक बार सुलाने आ जाओ;
माना कि तुमको प्यार नहीं, नफ़रत ही जताने आ जाओ;
जिस मोड़ पे हमको छोड़ गए हम बैठे अब तक सोच रहे;
क्या भूल हुई क्यों जुदा हुए, बस यह समझाने आ जाओ।


Leave a Reply




पढ़िए…कुछ विशेष शायरी कलेक्शन - जिनमें स्पेशल शब्दों को शामिल किया गया है

इन्हे भी पढ़े…..