Category: तन्हाई शायरी

तन्हाई शायरी हिंदी में – मेरी हर सुबह को बस

मेरी हर सुबह को बस शाम का इंतज़ार है
पर शाम को तो बस तन्हाई से प्यार है

तन्हाई शायरी हिंदी में – एक पुराना मौसम लौटा… याद

एक पुराना मौसम लौटा… याद भरी तन्हाई भी ..
ऐसा तो कम ही होता है… तु भी है तन्हाई भी..

तन्हाई शायरी हिंदी में – अब तो तन्हाई में रहने

अब तो तन्हाई में रहने का आदि हो चूका है दिल,
बदल गए है वो लोग जो सुबह शाम हाल पूछा करते थे !!

तन्हाई शायरी हिंदी में – मेरी तन्हाई का सबब पूछ

मेरी तन्हाई का सबब पूछ के वो खुद क्यों तनहा हो गए,
हमने बयां की थी हकीकत, मगर वो ख्वाबों में खो गए.

तन्हाई शायरी हिंदी में – याद करते है तुमहै तन्हाई

याद करते है तुमहै तन्हाई में,
दिल डूबा है ग़मों की गहराई में,
हमें मत ढूँढना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे तुम्है तुम्हारी परछाईं में,