फासला शायरी हिंदी में – कुछ तो मजबूरियां रही होंगी

कुछ तो मजबूरियां रही होंगी यूं कोई बेवफा नही होता,
टटोल कर देखो अपने दिल को हर फासला बेवजह नहीं होता….

फासला शायरी हिंदी में – चंद फासला जरूर रखि‍ए हर

चंद फासला जरूर रखि‍ए हर रि‍श्‍ते के दरमियान…
क्योंकि बदलने वाले अक्‍सर बेहद अजीज ही हुआ करते हैं…..!!

फासला शायरी हिंदी में – किसे भूल जाएं किसे याद

किसे भूल जाएं किसे याद रखें मुश्किल है फैसला,
दिल और दिमाग के बीच तो बहुत कम है फासला।


फासला शायरी हिंदी में – फासला रख के भी क्या

फासला रख के भी क्या हासिल हुआ
आज भी उस का ही कहलाता हूँ मैं


फासला शायरी हिंदी में – यूँ तो बहुत से हैं

यूँ तो बहुत से हैं रास्तें, मुझ तक पहुंचने के,
राह-ऐ-मोहब्बत से आना, फासला कम पड़ेगा…