सपने शायरी हिंदी में – सूरज निकलने का वक्त हो

सूरज निकलने का वक्त हो गया,
फूल खिलने का वक्त हो गया,
मीठी नींद से जागो मेरे दोस्त,
सपने हकीकत में लाने का वक्त हो गया !!
सुप्रभात



सपने शायरी हिंदी में – एक पहचान हज़ारो दोस्त बना

एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं
ज़िंदगी के सफ़रमे संभालकर चलना
एक ग़लती हज़ारो सपने जलाकर राख बना देती है

सपने शायरी हिंदी में – गुमसुम यादें सुने सपने टूटती-जुड़ती

गुमसुम यादें, सुने सपने, टूटती-जुड़ती उम्मीदें,
डरता हूँ कैसे कटेगी उम्र है कोई रात तो नहीं…..!!

सपने शायरी हिंदी में – सपने में चले आते तो

सपने में चले आते तो तेरा क्या बिगड़ जाता…
तेरा पर्दा भी बना रहता, हमें दीदार हो जाता!



सपने शायरी हिंदी में – सपने भी डरने लगे है

सपने भी डरने लगे है तेरी बेवफाई से
कहते है वो आते तो है मगर किसी और के साथ !!