सितम शायरी हिंदी में – करम के साथ सितम भी

करम के साथ सितम भी बला के रक्खे थे
हर एक फूल ने काँटे छुपा के रक्खे थे


सितम शायरी हिंदी में – कहाँ तलाश करोगे तुम मुझ

कहाँ तलाश करोगे तुम मुझ जैसा कोई…..
जो तुम्हारे सितम भी सहे…. और तुमसे मुहब्बत भी करे ॥


सितम शायरी हिंदी में – ये ना पूछ कितनी शिकायतें

ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी,
सिर्फ इतना बता की तेरा कोई और सितम बाक़ी तो नहीं.