मोहब्बत शायरी २ लाइन में – मुस्कुराने से शुरु और रुलाने पे

मुस्कुराने से शुरु और रुलाने पे खतम..
ये वो ज़ुल्म है जिस्से लोग मुहब्बत कहते है .!!


मोहब्बत शायरी २ लाइन में – उस शख्स को पाना, इतना मुश्किल

उस शख्स को पाना, इतना मुश्किल भी नही, मेरे दोस्त..
मगर जब तक दूरी न हो, मुहब्बत का मजा नही आता..!


मोहब्बत शायरी २ लाइन में – खुशबू कैसे ना आये मेरी बातों

खुशबू कैसे ना आये मेरी बातों से यारों,
मैंने बरसों से एक ही फूल से मोहब्बत की है.





पढ़िए…कुछ विशेष शायरी कलेक्शन - जिनमें स्पेशल शब्दों को शामिल किया गया है

इन्हे भी पढ़े…..