Suprabhat Hindi Shayari – रात गुजारी फिर महकती सुबह

रात गुजारी फिर महकती सुबह आई …
दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई..
आँखों ने महसूस किया उस हवा को …
जो तुम्हें छु कर हमारे पास आई ..
“सुप्रभात”

Leave a Reply