Tag: नई शायरी २०१७

इम्तेहान शायरी हिंदी में – अये वक़्त मेरे सब्र का

अये वक़्त मेरे सब्र का इतना इम्तेहान न ले
याद रख
मैंने जो ठोकर मारी तुझे
तो तू कभी लौट के न आ पायेगा

तेरे बिना शायरी हिंदी में – अधूरा है मेरा इश्क़ तेरे

अधूरा है मेरा इश्क़ तेरे नाम के बिना
जैसे अधूरी है राधा श्याम के बिना…

तेरे बिना शायरी हिंदी में – अक्सर ठहर कर देखता हूँ

अक्सर ठहर कर देखता हूँ अपने पैरों के निशान को,
वो भी अधूरे लगते है तेरे साथ के बिना..