Barsaat Sawan Ki Shayari – Tumhare Muntazir Rehte Hai Sawan Ke Haseen Jhule

तुम्हारे मुंतज़िर रहते हैं सावन के हसीं झूले
किया करती है याद अक्सर तुम्हें बरसात सावन की – राजेन्द्र नाथ रहबर

आरज़ू शायरी हिंदी में – आरज़ू‘ तेरी बरक़रार रहे

आरज़ू‘ तेरी बरक़रार रहे …
दिल का क्या है रहे, रहे न रहे…


फन्नी शायरी हिंदी में – पलकों Ko झुका कर सलाम

पलकों Ko झुका कर सलाम करते हैं
दिल की हर दुआ आपके नाम करते हैं

कबूल हो तो मुस्कुरा देना,
आपकी मुस्कराहट पे,
पूरी कोलगेट कंपनी क़ुर्बान करते हैं!

तुम्हारी याद शायरी हिंदी में – ये जो तुम्हारी याद है

ये जो तुम्हारी याद है ना,
बस एक यही मेरी जायदाद है !!


इंकार शायरी हिंदी में – तुम्हारे लबों पे इकरार है…

तुम्हारे लबों पे इकरार है…
मेरे लबों पे इनकार है…
यहीं तो सब निशानियाँ है…
शायद इसी का नाम प्यार है…

क़यामत शायरी हिंदी में – क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने

क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब;
ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, ‘मोहब्बत’ की है इसने।