आरज़ू शायरी हिंदी में – ना खुशी की तलाश है

ना खुशी की तलाश है ना गम-ए-निजात की आरज़ू..
मै ख़ुद से ही नाराज हूँ तेरी नाराजगी के बाद..



आरज़ू शायरी हिंदी में – आज ..खुद को तुझमे डुबोने

आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।
क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।
किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र
तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

आरज़ू शायरी हिंदी में – सर से लगा के पाँव

सर से लगा के पाँव तलक दिल हुआ हूँ मैं
याँ तक तो फ़न-ए-इश्क़ में कामिल हुआ हूँ मैं



आरज़ू शायरी हिंदी में – तमन्ना है मेरी कि आपकी

तमन्ना है मेरी कि आपकी आरज़ू बन जाऊं
आपकी आँख का तारा ना सही आपकी आँख का आंसू बन जाऊं