अलविदा शायरी हिंदी में – जनम जनम तुम साथ चलना

जनम जनम तुम साथ चलना यूही कसम तुम्हे कसम आके मिलनायूही
एक जान है भले दो बदन हो जुदा मेरी होके हमेशा ही रहना कभी ना कहना अलविदा!


अलविदा शायरी हिंदी में – अपनी नाजायज़ जिद को अलविदा

अपनी नाजायज़ जिद को अलविदा कह दो…
और भी ग़म है ज़माने में सिवा इश्क के..


अलविदा शायरी हिंदी में – कभी अलविदा मत कहना मेरे

कभी अलविदा मत कहना मेरे दोस्त। जिन्दगी अभी बाकी है गम पीने के लिए।
जख्म मिलता है हमें तीरे नजर से। दिल सम्भाल कर रखना उसे सीने के लिए।

अलविदा शायरी हिंदी में – सोया तो था में जिंदगी

सोया तो था में जिंदगी को अलविदा कह कर दोस्तों,
किसी की बे-पनाह दुआओ ने मुझे फिर से जगा दिया..