Tag: gair shayari hindi mein

गैर शायरी हिंदी में – मैं खुद भी अपने लिए

मैं खुद भी अपने लिए अजनबी हूँ,
मुझे गैर कहने वाले – तेरी बात में दम है…!!!

गैर शायरी हिंदी में – तेरी हालत से लगता है

तेरी हालत से लगता है तेरा अपना था कोई
इतनी सादगी से बर्बाद कोई गैर नहीं करता

गैर शायरी हिंदी में – मैने कब कहा मुझे गुलाब

मैने कब कहा मुझे गुलाब दे
या फिर मुहब्बत से आवाज दे

आज बहुत उदास है दिल मेरा
गैर बन के ही सही मगर मुझे तू आवाज दे