गुरूर शायरी हिंदी में – तेरे गुरूर को देखकर तेरी

तेरे गुरूर को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ दी हमने,
जरा हम भी तो देखें कौन चाहता है तुम्हें हमारी तरह।

गुरूर शायरी हिंदी में – कब्र की मिट्टी हाथ में

कब्र की मिट्टी हाथ में लिए सोचता हूँ ; कि
मरने के बाद गुरूर कहाँ जाता है!!


गुरूर शायरी हिंदी में – “नज़रे” झुकी हैं चेहरे पे

“नज़रे” झुकी हैं चेहरे पे “नूर” है…!
जालिम की सादगी में भी कितना गुरूर है…!


गुरूर शायरी हिंदी में – गुरूर तो होना था उनको

गुरूर तो होना था उनको हमारी मोहब्बत की शिद्दत देख कर
मगर वो इस गरूर की सोच में हमारी कीमत भूल गए …