हुस्न शायरी हिंदी में – हुस्न का क्या काम सच्ची

हुस्न का क्या काम सच्ची मोहब्बत में,
जब आँख ”मजनू” हो, तो ”लैला ” हसीन ही लगती है …!


हुस्न शायरी हिंदी में – आईने में वो देख रहे

आईने में वो देख रहे थे बहार-ऐ-हुस्न
आया मेरा ख्याल तो शर्मा के रह गये


हुस्न शायरी हिंदी में – लोग समझते हैं के मैं

लोग समझते हैं के मैं तुम्हारे हुस्न पर मरता हूँ..
अगर तुम भी यही समझते हो तो सुनो..
जब हुस्न खो दो तब लौट आना…

हुस्न शायरी हिंदी में – तेरे रुखसार से ही जल

तेरे रुखसार से ही जल जाती है सिगरेट मेरी,
इस आतिशी हुस्न ने माचिस की बचत कर दी !!


हुस्न शायरी हिंदी में – तरस गए आपके दीदार को

तरस गए आपके दीदार को
फिर भी दिल आप ही को याद करता है
हमसे खुश नसीब तो है आपके घर का आइना
जो हर रोज आपके हुस्न का दीदार करता है