Tag: hindi mausam shayari

मौसम शायरी हिंदी में – रुका हुआ है अज़ब धुप

रुका हुआ है अज़ब धुप छाँव का मौसम,
गुज़र रहा है कोई दिल से बादलों की तरह..!!

मौसम शायरी हिंदी में – कोई मुझ से पूछ बैठा

कोई मुझ से पूछ बैठा ‘बदलना’ किस को कहते हैं?
सोच में पड़ गया हूँ मिसाल किस की दूँ ? “मौसम” की या “अपनों” की..!!!!!

मौसम शायरी हिंदी में – अपने किरदार को मौसम से

अपने किरदार को मौसम से बचाए रखना !
लौट कर फूलों में वापस नहीं आती खुशबू.”

मौसम शायरी हिंदी में – जैसा मूड़ हो वैसा मंजर

जैसा मूड़ हो वैसा मंजर होता है..
मौसम तो इंसान के अंदर होता है…