Tag: hindi tanha shayari

तनहा शायरी हिंदी में – तेरे होने पर खुद को

तेरे होने पर खुद को तनहा समझू !
मैं बेवफा हूँ या तुझको बेवफा समझू !!
ज़ख्म भी देते हो मलहम भी लगाते हो !
ये तेरी आदत हैं या इसे तेरी अदा समझू!!

तनहा शायरी हिंदी में – ऑंख से ऑंख मिलाता है

ऑंख से ऑंख मिलाता है कोई,
दिल को खिंच लिये जाता है कोई,
बहुत हैरत है के भरी महफ़िल में,
मुझ को तनहा नज़र आता है कोई।

तनहा शायरी हिंदी में – ये तनहा सी ज़िन्दगी डराती

ये तनहा सी ज़िन्दगी डराती है मुझे हर शाम….
एहसान है की एक खोखली हिम्मत देता है ये जाम…..

तनहा शायरी हिंदी में – माना की दूरियां कुछ बढ़

माना की दूरियां कुछ बढ़ सी गयीं हैं
लेकिन तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तनहा गुजरता है