जहर शायरी हिंदी में – इन हवाओं में आज ज़हर

इन हवाओं में आज ज़हर है,
जिन हवाओं में कल मेरा शहर था…!


जहर शायरी हिंदी में – हमे पता था की उसकी

हमे पता था की उसकी मोहब्बत में ज़हर हैं ;
पर उसके पिलाने का अंदाज ही इतना प्यारा था की हम ठुकरा ना सके !


जहर शायरी हिंदी में – मेरी उस मौत का मंजर

मेरी उस मौत का मंजर भी हसीं होगा,
तुम अपने लबों पे ज़हर रखो और मैं उसे चूमता रहूँ…