नसीब शायरी हिंदी में – जिसके लफ़्ज़ों में हमे अपना

जिसके लफ़्ज़ों में हमे अपना अक्स मिलता है..
बड़े नसीब से ऐसा कोई शख़्स मिलता है..


नसीब शायरी हिंदी में – ठोकरें खाकर भी ना संभले

ठोकरें खाकर भी ना संभले तो मुसाफिर का नसीब,.
राह के पत्थर तो अपना फ़र्ज़ अदा करते हैं..!!


नसीब शायरी हिंदी में – दिल में है जो दर्द

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं!
हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ!
कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब!
मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं

नसीब शायरी हिंदी में – अज़ीज़ भी तू हैं मेरा

अज़ीज़ भी तू हैं मेरा नसीब भी तू हैं
दुनिया की भीड़ में मेरे सबसे करीब भी तू है


नसीब शायरी हिंदी में – हर खुशी दिल के करीब

हर खुशी दिल के करीब नही होती..
ज़िंदगी ग़मो से दूर नहीं होती..
इस दोस्ती को संभाल कर रखना..
क्यूंकि दोस्ती हर किसी को नसीब नहीं होती..!!..