पराया शायरी हिंदी में – दिल जो टूटा तो कई

दिल जो टूटा तो कई हाथ दुआ को उठे
ऐसे माहौल में अब किस को पराया समझूं l


पराया शायरी हिंदी में – यूँ ज़िन्दगी से मेरे मरासिम

यूँ ज़िन्दगी से मेरे मरासिम हैं आज कल,
हाथों में जैसे थाम ले कोई पराया हाथ


पराया शायरी हिंदी में – सुनो – तुम्हारी बेरूखी ने ऐसा

सुनो –
तुम्हारी बेरूखी ने ऐसा
चमत्कार कर दिखाया है
कि
न मै अपना ही रहा
न ही पराया बन पाया..!