शिद्दत शायरी हिंदी में – हक़ीक़तों ने रखा है जगा

हक़ीक़तों ने रखा है जगा कर हमें..
ख़्वाबों में वो शिद्दत न रही..!!


शिद्दत शायरी हिंदी में – कभी तन्हा हो तो वो

कभी तन्हा हो तो वो लम्हा याद करना,
बस एक बार,हमें शिद्दत से याद करना..
तुम्हें,उस नाकाम मोहब्बत की कसम है,
न इस तरह,फिर किसी को बर्बाद करना.

शिद्दत शायरी हिंदी में – याद महबूब की और शिद्दत

याद महबूब की और शिद्दत सर्दी की,
देखते हैं अब हमे कौन बीमार करता हैं🚸😭…!!


शिद्दत शायरी हिंदी में – यह जानता हूं मैं भी

यह जानता हूं मैं भी के पा नहीं सकता तुमको,
तू मेरी शिद्दत देख मेरी जुनून की इंतहा देख