Zulf Shayari | जुल्फ़ शायरी | Zulf Shayari In Hindi

Julfen Shayari - Andaaz Apna Aaine Mein Dekhte Hai Wo
Julfen Shayari – Andaaz Apna Aaine Mein Dekhte Hai Wo

Best 34 Zulf Shayari |चुनिंदा जुल्फ़ शायरी | Zulf Shayari In Hindi

अंदाज़ अपना देखते हैं आईने में वो,
जुल्फें संवार कर कभी जुल्फें बिगाड़ कर

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

ज़ाहिद ने मेरा हासिल-ए-ईमान नहीं देखा,
रुख पर तेरी ज़ुल्फों को परेशान नहीं देखा।

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

आप की ज़ुल्फ़ों का साया है,
लोग जिसको बहार कहते हैं।

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

जल्वे मचल पड़े तो सहर का गुमाँ हुआ,
ज़ुल्फ़ें बिखर गईं तो सियाह रात हो गई।

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

न कुछ तेजी चली बाद-ए-सबा की,
बिगड़ने में भी ज़ुल्फ़ उनकी बना दी।

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

अब हटाओ जुल्फें आंखों से कि मैं तुम्हें पहचानता हूं
मैं तुम्हें तुम्हारी हिजाबो से नहीं बल्कि
आंखों से पहचानता हूं

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari In Hindi

उसकी बातें उसकी आँखें उसकी ज़ुल्फ़ें क्या कहने
उसकी इक सूरत में मुझको जन्नत सारी लगती है
Ravi sharma ‘VEER’

~~~~~~~~~~~~~

Julfon Par Shayari - Ghani Julfon Ke Saye Mein Chamakta Chand Sa Chehra
Julfon Par Shayari – Ghani Julfon Ke Saye Mein Chamakta Chand Sa Chehra

Zulf Shayari In Hindi

घनी ज़ुल्फों के साये में चमकता चाँद सा चेहरा,
तुझे देखूं तो कुछ रातें सुहानी याद आती हैं

~~~~~~~~~~~~~

Zulfon Par Shayari

कम से कम अपने बाल तो बाँध लिया करो।
कमबख्त..बेवजह मौसम बदल दिया करते हैं।

~~~~~~~~~~~~~

Zulfon Par Shayari

खुला यह राज जब आये वो बाल बिखराये,
कि रौशनी से ज्यादा हसीन होते हैं साये।

~~~~~~~~~~~~~

Zulfon Par Shayari

चाँद चेहरा, ज़ुल्फ़ दरिया, बात ख़ुशबू, दिल चमन
इक तुझे देकर ख़ुदा ने, दे दिया क्या क्या मुझे
Bashir Badr

~~~~~~~~~~~~~

Zulfon Par Shayari

ज़रा उनकी शोखी तो देखिये लिए ज़ुल्फ़-ऐ-ख़मशुदा हाथ में
मेरे पीछे आये दबे दबे, मुझे सांप कह के डरा दिया

~~~~~~~~~~~~~

Zulfon Par Shayari

तुझको देखेंगे सितारे तो स्याह माँगेंगे,
और प्यासे तेरी ज़ुल्फों से घटा माँगेंगे

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulfon Par Shayari

तुम छुपा लो अपनी गर्दन जुल्फों से तो बात बन जाये,
यूं उस पर पड़े तिल पे नजर ठनी तो इश्क तो होगा ही।

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulfon Par Shayari

न देखना कभी आईना भूल कर देखो
तुम्हारे हुस्न का पैदा जवाब कर देगा।

~~~~~~~~~~~~~

Julf Shayari - Gira Kar Julf Apni Phir Adaa-e-Naaz Se Bole
Julf Shayari – Gira Kar Julf Apni Phir Adaa-e-Naaz Se Bole

Girlfriend Ki Zulfon Par Shayari

गिरा कर ज़ुल्फ़ अपनी फिर अदा-ऐ-नाज़ से बोले
सुनो हम प्यार में लोगों को, यूँ पागल बनाते हैं
Faizan Raza Faizi

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulfon Par Shayari

बड़ी आरज़ू थी मोहब्बत को बेनकाब देखने की,
दुपट्टा जो सरका तो जुल्फें दीवार बन गयीं।

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulf Romantic Shayari

बिखरी हुई ज़ुल्फें तेरी आँखों का ये काजल
करने को मेरा क़त्ल ये सामान बहुत है
Sanchit Pandey

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulf Romantic Shayari

बिजलियों ने सीख ली उनके तबस्सुम की अदा,
रंग ज़ुल्फ़ों की चुरा लाई घटा बरसात की।

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulf Romantic Shayari

लोग जुल्फों के असीर होते हैं
हमने उनके हिजाब पर दिल हारा है

~~~~~~~~~~~~~

Julf Shayri Girls

हटा कर ज़ुल्फ़ चेहरे से
ना छत पर शाम को आना,
कहीं कोई ईद ही ना कर ले
अभी रमज़ान बाकी है।

~~~~~~~~~~~~~

Julf Shayri Girls

अब ज़ेहन में और उसको गहरा कर लिया
उस चाँद को जब मैंने चेहरा कर लिया

महताब जैसे छुप गया हो अब्र में
ज़ुल्फों ने जब रुख़ पे यूँ पहरा कर लिया
Chetan Dadhich

~~~~~~~~~~~~~

Julf Shayri Girls

इस रात की तारीकी पर कुछ तो असर आए
चेहरे से हटा जुल्फ़ें के चाँद नज़र आए
Haider Khan

~~~~~~~~~~~~~

Julfen Shayari - Surat Dekhun Aankhen Dekhun Julfen Dekhun Kya Dekhun
Julfen Shayari – Surat Dekhun Aankhen Dekhun Julfen Dekhun Kya Dekhun

Zulf Shayari For GF

सूरत देखूँ, आँखे देखूँ, ज़ुल्फ़ें देखूँ, क्या देखूँ
कैसे इन आँखों से मैं इक बार उसे पूरा देखूँ
Ravi sharma ‘VEER’

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari For GF

पूछा जो उन से चाँद निकलता है किस तरह
ज़ुल्फ़ों को रुख़ पे डाल के झटका दिया कि यूँ

आरज़ू लखनवी

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari On Girl’s Hairs

आँख नाज़ूक सी कलियाँ, बात मिस्री की ड़लियाँ,
होंठ गंगा के साहिल, जुल्फें जन्नत की गलियाँ।

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari For Wife

तेरी ज़ुल्फ़ें, तेरी आँखें, तेरे लब और ये बिंदी
ज़माने पर क़हर ढाने को जैसे फ़ौज निकली हो
Sonia rooh

~~~~~~~~~~~~~

Zulf Shayari Premika Ke Liye

ये उड़ती ज़ुल्फें और ये बिखरी मुस्कान,
एक अदा से संभलूँ तो दूसरी होश उड़ा देती है।

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ki Zulfon Par Shayari

इलाही खैर हो उलझन पे उलझन बढ़ती जाती है,
न मेरा दम न उनके गेसुओं का खम निकलता है।
क़यामत ही न हो जाये जो पर्दे से निकल आओ,
तुम्हारे मुँह छुपाने में तो ये आलम गुजरता है।

~~~~~~~~~~~~~

Girlfriend Ke Baalon Par Shayari

ग़म-ए-ज़माना तिरी ज़ुल्मतें ही क्या कम थीं,
कि बढ़ चले हैं अब इन गेसुओं के भी साए।

~~~~~~~~~~~~~

Shayari On GF Hairs | Gesu Shayari | Barsaat Shayari

गेसुओ को तिरी मैं जो बादल कहूं
रुख से बादल हटाओ, तो बरसात हो

तुम जो आते हो सज कर मेरे सामने
आग यूं जो लगाओ, तो बरसात हो
Naved sahil

~~~~~~~~~~~~~

Romantic Shayari On GF Hairs

बड़े गुस्ताख़ हैं झुक कर तिरा मुँह चूम लेते हैं
बहुत सा तू ने ज़ालिम गेसुओं को सर चढ़ाया है।

~~~~~~~~~~~~~

Shayari On GF Hairs | Libaas Shayari

ये बेख्याली ये लिबास ये गेसू खुले हुए,
सीखी कहाँ से तुमने ये अदाएं नई नई।

~~~~~~~~~~~~~

Shayari On GF Hairs

हमारे दिल की हालत गेसु-ए-महबूब जाने है,
परेशाँ की परेशानी परेशाँ ख़ूब जाने है।